Sale!

Jwalamukhi

50.00 25.00

ऑफिसरों से ज्यादा उन की पत्नियाँ महत्वपूर्ण होती हैं !!

You will need Adobe Digital Editions to View and Read this E-book.

 

25 in stock

Description

लाहौर हवाई अड्डे पर उतरते वक्त केसरी का चेहरा चिरागों सा जल रहा था | अपने ओवरकोट की भीतरी जेब को उसने हवाई जहाज से उतरते वक्त महसूसा था | उसे कोई अनमोल खजाना सीने में समां गया लगा था | एक – वर्षों से छेड़े अभियान का ये अंतिम काम था | इस खजाने को प्राप्त करने की वो तमाम .. कोशिशें केसरी के दिमाग में एकबारगी कौंध .. सी जाती हैं !

ऑफिसरों से ज्यादा उन की पत्नियाँ महत्वपूर्ण होती हैं !!

Additional information

ISBN

978-81-932772-2-5

Author

Major Krapal Verma

Publisher

Praneta Publications Pvt. Ltd.

Publication Type

E-book

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Jwalamukhi”