Posted on

जब भी तुम आती हो

maa pitaji mandir jaate huae

जब भी तुम आती हो

कुछ कहना चाहती हो

मैं तुम्हें समझे बगैर

ही ख़ुश हो जातीं हूँ

कि तुम मिलने आ जाती हो

पर तुम्हारी बातों में

कितनी सच्चाई झलकती है.. माँ!!

तुम्हारा यूँ आना

और मुझसे

चुपके से कुछ कहना

सच हो जाता है

फ़िर अचानक से गायब हो जाती हो

एक बार फ़िर मुझे तुम

याद बहुत आती हो

पर कोई सच अपने संग

ज़रूर लाती हो

जब भी तुम आती हो..माँ!!