Posted on

किस्मत!

इंडियन डेमोक्रेसी

कविता 

आभारी हैं ….हम ! 

                          जनता ….!

                          जनमत !!

                          बहुमत !!!

                           मेरे देश की –

किस्मत!!!!

आभारी हैं ……..हम –

                               उत्तुंग लहर …!

                               दैवीय प्रहर ….!!

                               हे ! चिर -प्रवाह ….!!!

                              हे ! अमर चाह ……!!!!

आभारी हैं – हम ……

                               प्रेम भावना ….!

                               कुछ न चाहना …!!

                                सर्वश्व त्यागना ….!!!

                               हे ! भारत प्रवीर ….!!!!

आभारी हैं …..हम –

                             नियति मोड़ना ….!

                              होंठ खोलना ….!!

                              द्रष्टि मिलन …..!!!

                               हुंकार प्रबल …..!!!!

आभारी हैं ….हम –

                                तू झुके नहीं ….! 

                                 तू रुके नहीं …..!!

                                 तू मुचे नहीं ……!!!

                                 भारत जननी …..!!!!

आभारी हैं ….हम –

                             जनता ,जनमत ,बहुमत ,मेरे देश की …….

किस्मत!!!!!!!

कृपाल